Skip to content

करंट अकाउंट क्या है | Current Account की पूरी जानकारी 2022

Rate this post

क्या आप जानते हैं, करंट अकाउंट क्या है ? अक्सर लोग जब किसी बैंक में खाता खोलने के लिए जाते हैं, तो उन्हें सही तरह से इस बारें जानकारी नहीं होती है। Saving account और CURRENT ACCOUNT में बहुत अन्तर है। सेविंग अकाउंट यानी बचत खाता, किसी भी आदमी के पर्सनल लेन-देन के लिए खुलवाया जाता है। वहीँ करंट अकाउंट यानी चालू खाता, किसी बिजनेस के लिए खुलवाया जाता है। दोनों खाता के लिए अलग – अलग नियम बनाए गए हैं । यहां इस पोस्ट में Current Account की पूरी जानकारी मिलेगी। तो आइये पोस्ट को पूरा पढ़ें :

करंट अकाउंट क्या है ? Current Account kya hai.

वैसा खाता जिसमें बड़ी मात्रा में पैसा निकाला और जमा किया जाता है या खातों में जमा करने तथा निकासी की कोई सीमा नहीं होती है, उसे करंट अकाउंट कहते हैं। यह खाता उद्योगपतियों, फर्म, कंपनी आदि के लिए होता है। यह एक प्रकार का डिपोजिट अकाउंट होता है, इस अकाउंट के अंदर बहुत ज्यादा ट्रांसक्शन्स होती है और बैंक द्वारा यह अकाउंट उन कस्टमर के ओपन किया जाता है जो कस्टमर बैंक के साथ बहुत ज्यादा ट्रांजैक्शन करते है।

करंट अकाउंट का मतलब न तो ब्याज कमाने के उद्देश्य से है और न ही बचत के उद्देश्य से, बल्कि बिज़नस की सुविधा के लिए, इसलिए वे गैर-ब्याज (Interest) वाले खाते हैं।यह एक ऐसा अकाउंट है जिसके अन्दर हर समय लेन देन चलता रहता है। इसीलिए इस CURRENT ACCOUNT को फाइनेंसियल अकाउंट या चालू खाता भी कहते है।

करंट अकाउंट के फायदे और नुकसान (Benifit of Current Account in hindi)

  • करंट अकाउंट में आप unlimited transection कर सकते है,
  • करंट अकाउंट से आप को जमा राशि पर कोई ब्याज नहीं मिलता है।
  • करंट अकाउंट में आप को मिनिमम बैलेंस रखना होगा नहीं तो आपको इसके लिए चार्ज किया जायेगा।
  • आप खाते में कितनी भी राशि रख सकते हैं । इसके लिए आपको टैक्स नहीं देना होता है।
  • इस खाते से आसानी से बैंक लोन लिया जा सकता है।
  • करंट अकाउंट ओवर ड्राफ़्ट, इंटरनेट बैंकिंग एंड मोबाइल बैंकिंग जैसे कई फैसिलिटीज भी प्रोवाइड करता है।
  • करंट अकाउंट के अंदर कोई भी बिजनेसमैन Cheques, Demand Drafts से डायरेक्ट Payments कर सकते है।

Read More: बैंक से लोन कैसे लें | How to apply for loan

करंट अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं (Types of Current Account)

यदि Current Account के प्रकार की बात करें तो सुविधाओं के आधार पर ये कई प्रकार के होते हैं

  • Standard Current Accounts : इस अकाउंट के अंदर मंथली एवरेज बैलेंस होना चाहिए और इस अकाउंट के अंदर cheque books, debit cards, overdraft facility, etc फैसिलिटीज प्रोवाइड की जाती है और इस अकाउंट के अंदर बहुत से फीचर है जैसे; internet banking, SMS banking, Free RTGS and NEFT transactions, etc. यह एक नॉन इंटरेस्ट के साथ डिपाजिट अकाउंट है। तो यदि कोई बिजनेस के लिए एक Current Account  ओपन करना चाहते है तो उसके लिए सही है।
  • Packaged current accounts : एकाउंट्स के अंदर भी अकाउंट होल्डर को बहुत सी फैसिलिटीज प्रोवाइड की जाती है जैसे; travel insurance, medical support, roadside assistance, etc.और भी बहुत से फीचर मिलते है। इस Current Account के अंदर और कस्टमर की जरुरत के हिसाब से बहुत सी फैसिलिटीज प्रोवाइड करता है।
  • Single column cash book : Simple कैश एकाउंट्स और सिंगल कॉलम कॅश बुक भी एक Current Account है यह अकाउंट डेली ट्रांसक्शन्स को Allow करता है। लेकिन इस अकाउंट के अंदर ओवरड्राफ्ट की फैसिलिटी नहीं मिलती है। यह अकाउंट एक बिज़नेस के लिए बहुत ही बेस्ट अकाउंट है। क्योंकि यह किसी बिजनेस के के लिए केश बुक का काम करता है।
  • Premium current accounts : यह अकाउंट होल्डर्स भी को एक्सक्लूसिव ऑफर्स एंड बेनिफिट्स प्रोवाइड करता है।
  • 5. Foreign currency accounts: यह उस व्यक्ति के लिए है, जिसको अपने बिज़नेस के लिए ट्रांसक्शन दूसरे देशों में करनी पड़ती है। foreign currency में ट्रांजेक्शन करने के लिए यह बेस्ट अकाउंट है। क्योंकि, बहुत से बिज़नस है जिनके लिए फॉरेन कंट्री के अंदर ट्रांजैक्शन करनी पड़ती है, तो उन बिजनेस के लिए यह एक बिल्कुल परफेक्ट अकाउंट है ।

Read More: SBI टर्म इंश्योरेंस प्लान | Top 3 Term Insurance Plans

करंट अकाउंट खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज (Documents required for opening a Current Account)

चालू खाता खोलने के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेज की आवश्यकता होगी:-

  • पैन कार्ड (PAN Card)
  • साझेदारी कार्य (साझेदारी फर्म के मामले में) Partnership deed (for partnership Firm)
  • निवेश का प्रमाणपत्र, एसोसिएशन के ज्ञापन और एसोसिएशन ऑफ आर्टिकल्स (कंपनियों के मामले में) Certificate of incorporation ( for companies)
  • बैंक खाता खोलने के लिए एक चेक (Cheque for account opening)
  • फर्म / कंपनी / एचयूएफ का पता प्रमाण (Firm/Company/Huf address prooF)
  • सभी भागीदारों / निदेशकों का आईडी और पता प्रमाण (Address Proof & ID proof)

करंट अकाउंट खोलने के लिए कैसे अप्लाई करे

यदि कोई भी व्यक्ति अपने बिज़नेस के लिए कोई Current Account ओपन करना चाहता है, तो उस व्यक्ति को ऊपर दिए गए डॉक्यूमेंट की एक कॉपी और ओरिजिनल डॉक्यूमेंट के साथ बैंक जाकर करंट अकाउंट ओपन करवा सकता है। लेकिन जब तक आपके डॉक्यूमेंट अप्रूव नहीं होंगे तब तक आपका अकाउंट ओपन नहीं किया जायेगा।

Note : चालू खाता उपयोगकर्ताओं को अपने खातों में न्यूनतम त्रैमासिक औसत शेष राशि बनाए रखने की भी आवश्यकता होती है। अधिकांश बैंकों में न्यूनतम त्रैमासिक औसत बैलेंस मानदंड 5,000 / 10,000 रुपये है।

Open SBI CURRENT ACCOUNT

OPEN PNB CURRENT ACCOUNT

Video: करंट अकाउंट की पूरी जानकारी

Conclusion: करंट अकाउंट क्या है

उम्मीद करते हैं आप इस पोस्ट में करंट अकाउंट क्या है, Current Account की पूरी जानकारी को पढ़ें होंगे। हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपके काम आएगी और पोस्ट अच्छी लगे तो अपने दोस्तों को भी शेयर करे और कमेंट करे।

Join the conversation

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: