Skip to content

World post day और National post Day की पूरी जानकारी

World post day Photos Quotes in hindi : दोस्तों, आज हम जानेंगे World Post day और National Post Day क्या है, क्यों मनाया जाता है।

अब के समय में टेक्नोलॉजी इतनी ज्यादा विकसित हो गई है, कि कुछ ही सेकंड में हमारे संवाद या संदेश दुनियां के किसी भी कोने में भेजा जा सकता है। लेकिन सालों पहले किसी भी रिस्तेदार या अन्य किसी को अपना संदेश भेजने का एकमात्र जरिया डाक था। जितनी दूरी होती थी, उस हिसाब से समय लगता था। आज भी हर जगह आपको डाक विभाग के पोस्ट ऑफिस देखने को मिलता है। इनका ही काम होता था, आपके द्वारा दिए गए पते पर आपकी चिट्ठी को पहुंचाना।

World post day क्या है ?

9 अक्टूबर 1874 को स्विट्जरलैंड की राजधानी बर्न में यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन (UPU) का गठन करने के लिए एक कार्यक्रम हुआ था। जिसमें 22 देशों ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। इसके बाद वर्ष 1969 में जापान के टोक्‍यो में एक सम्मेलन हुए। जिसमें 9 अक्‍टूबर को विश्व डाक दिवस के रूप में मनाए जाने की घोषणा हुई। जिसके बाद से ही पूरे विश्व भर में 9 october को विश्व डाक दिवस के रूप में मनाए जाने लगा।

डाक दिवस कब मनाया जाता है ?

इसी तरह पूरे भारत में भी 9 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय डाक दिवस और 10 अक्टूबर को राष्ट्रीय डाक दिवस मनाया जाता है। आपको बता दूं कि भारत में 10 october के दिन इस महोत्सव मनाने के क्या कारण है।

National Post Day क्या है ?

भारत 1 जुलाई, 1876 में यूपीयू का सदस्य बना था। खास बात ये है कि भारत एशिया का पहला देश है, जिसे इसकी सदस्यता मिली है।भारत में हर साल 10 अक्टूबर को राष्ट्रीय डाक दिवस यानी National Post Day मनाया जाता है।

इस दिन को मनाए जाने का उद्देश्य पिछले 150 वर्षों से भारतीय डाक विभाग द्वारा निभाई गई भूमिका को याद करना है, इसे विश्व डाक दिवस के विस्तार के रूप में मनाया जाता है, जिसे दुनिया भर में 9 अक्टूबर को मनाया जाता है।

Read more : जीरो निवेश से Upstox से पैसे कैसे कमाएं?

डाक विभाग की स्थापना भारत में 1854 में लॉर्ड डलहौजी द्वारा की गई थी । पिनकोड नंबर की शुरुआत 15 अगस्त, 1972 में हुई थी। बदलते परिवेश के साथ डाक विभाग में भी बदलाव कर दिए गए है।

डाक विभाग में अब सभी प्रकार के ऑनलाइन कार्य होने लगे है जैसे – बैंकिंग कार्य, स्पीड पोस्ट, स्पीड कुरियर, ऑनलाइन मनी ट्रांसफर्र आदि। डाक द्वारा हम पत्र भेजा करते थे और मनीऑर्डर, टेलीग्राम आदि की सहायता लिया करते थे. लेकिन आज के समय में इन्टरनेट, कुरिअर के माध्यम से हम वस्तुओं को भेज सकते हैं व मिनटों में संदेश प्राप्त कर सकते हैं. डाक का महत्त्व आज भी है और इसी महत्त्व को दर्शाने के लिए प्रत्येक वर्ष डाक दिवस मनाया जाता है।

World post day Photos Quotes in hindi

विश्व डाक दिवस 2021 की हार्दिक शुभकामनाएं Photos Quotes in hindi

विश्व राष्ट्रीय डाक दिवस पर विचार

कितना वीरान सा लगता ये डाकघर है,
किसी दिन ये बंद न हो जाए इसका डर है।

विश्व डाक दिवस की शुभकामनाएं
World post day 2021 Photos Quotes in hindi

जब डाकघर से होकर कोई पत्र आता था,
बातें कम होती थी मगर एहसास ज्यादा था.

विश्व डाक दिवस की शुभकामनाएं

कुछ सालों पहले जब गांव में डाकिया आता था,
तो वह केवल पत्र नही, वह हजारों चेहरे की खुशियां लाता था…

विश्व डाक दिवस की शुभकामनाएं
World post day और National post Day की पूरी जानकारी

जब चिट्ठियां लाया करता था डाकिया, बातें होती थीं टेलीफ़ोन से ट्रंक कॉल पर बामुश्किल और आते थे रिश्तेदार ट्रेनों से छठे छमासे तो गहरे थे रिश्ते, अब जब दूरियाँ सिमट गई हैं, मोबाइल और व्हाट्सएप पर चेहरे देखते हुए कर सकते हैं बातें, ख़त्म हो गई है मिलने की छटपटाहट और मिलता भी नहीं सन्देश कोई ऐसा जो सहेजे जा सकें चिट्ठी की तरह …

विश्व डाक दिवस की शुभकामनाएं

Join the conversation

Your email address will not be published. Required fields are marked *