Skip to content

डिविडेंड (लाभांश) क्या है प्रकार और काम कैसे करता है (Dividend kya hai)

Dividend kya hai

Dividend kya hai: दोस्तों अगर आप शेयर मार्केट में निवेश करते हैं तो आपने डिविडेंड के बारे में जरूर सुना होगा, लेकिन अगर आपको डिविडेंड के बारे में अधिक जानकारी नहीं है तो यह लेख आपके लिए ही है, इस लेख में डिविडेंड (लाभांश) क्या है प्रकार और काम कैसे करता है  के बारे में आसान शब्दों में और विस्तार से बताया गया है।

इसलिए यह लेख आपके लिए बहुत ही खास होने वाला है और आप इस लेख में अंत तक जरूर बने रहें ताकि आपको डिविडेंड (लाभांश) के बारे में पूरी जानकारी हो सके, तो चलिए अब हम आज के इस लेख को शुरू करते हैं :-

डिविडेंड (लाभांश) क्या है – (Dividend kya hai)

डिविडेंड को हिंदी में लाभांश कहा जाता है, जब कंपनियां प्रॉफिट कमा लेती है तो अपने लाभ का कुछ हिस्सा शेयर धारकों को बांट देती है, जिसे डिविडेंड या लाभांश कहा जाता है।

कंपनिया डिविडेंड प्रति शेयर के अनुसार बांटती है, जैसे अगर कंपनी ने प्रति शेयर डिविडेंड 10 निश्चित किया है और निवेशक के पास 10 शेयर है तो उसे डिविडेंड 10×10 यानि 100 मिलेगा।

अक्सर कम्पनी के मुख्य सदस्य द्वारा निर्धारित किया जाता है कि शेयरधारकों को डिविडेंड कितना दिया जाए और किस रूप में दिया जाए, क्योंकि डिविडेंड रुपए, शेयर और अन्य तरीके से भी दिया जा सकता है।

डिविडेंड के प्रकार

शेयरधारकों को मिलने वाला डिविडेंड मुख्य रूप से 6 तरह का होता है :-

  • Cash Dividend (नकद लाभांश)
  • Stock Dividend (स्कंध लाभांश)
  • Asset Dividend (सम्पति लाभांश)
  • Special Dividend (विशेष लाभ)
  • Liquidating Dividend (परिसमापन लाभांश)
  • Scrip Dividend (स्क्रिप डिविडेंड)

चलिए अब हम इन सभी तरह के डिविडेंड के बारे में विस्तार से जानते हैं :-

1. Cash Dividend (नकद लाभांश)

Cash Dividend के बारे में नाम से ही पता चल रहा है, जब शेयर होल्डर्स को सीधे बैंक अकाउंट में पैसे मिलते हैं तो वह Cash Dividend कहलाता है, Cash Dividend चेक के जरिए भी दिया जा सकता है।

2. Stock Dividend (स्कंध लाभांश)

जब कंपनी शेयर होल्डर्स को डिविडेंड के रूप में अपनी कंपनी के शेयर देती है तो वह Stock Dividend होता है, ज्यादात्तर यह लोगों को ही चुनना होता है कि उन्हें Cash Dividend चाहिए या Stock Dividend।

3. Asset Dividend (सम्पति लाभांश)

जब कंपनी शेयर होल्डर्स को डिविडेंड के तौर पर चल – अचल सम्पति या गैर मौद्रिक सम्पति देती है, तो वह Asset Dividend होता है, लेकिन यह डिविडेंड देने का अधिक लोकप्रिय तरीका नहीं है।

4. Special Dividend (विशेष लाभ)

जब कोई कंपनी अपने टारगेट से ज्यादा प्रॉफिट कमा लेती है या अपनी उम्मीद से कई गुना ज्यादा प्रॉफिट में आ जाती है तो वह अपने शेयर होल्डर्स को Special Dividend देती है।

Special Dividend अपने ग्राहकों तक अपनी खुशी पहुंचाने का तरीका होता है, Special Dividend कंपनी की पॉलिसी में नहीं होता।

5. Liquidating Dividend (परिसमापन लाभांश)

जब कोई कंपनी अपना काम बंद कर रही हो तब वह अपने ग्राहकों को अंतिम लाभ देने के तौर पर Liquidating Dividend देती है, यह देना इसलिए जरुरी होता है, क्योंकि कंपनी अपना काम बंद करके ग्राहकों का घाटा नहीं करवा सकती।

6. Scrip Dividend (स्क्रिप डिविडेंड)

Scrip Dividend सभी डिविडेंड से बिल्कुल अलग होता है, अगर कोई कंपनी लॉस में चल रही है और अपने शेयर होल्डर्स को डिविडेंड नहीं दे पा रही तो ऐसे में लोगों को गारंटी देकर लोगों को विश्वास दिलाना कि उन्हें भविष्य में यह डिविडेंड जरूर दिया जाएगा, वह Scrip Dividend होता है।

डिविडेंड काम कैसे करता है? (Dividend kya hai)

  • जब कंपनी अपने निर्धारित लाभ तक पहुंच जाती है और नेट प्रॉफिट कमा लेती है तो कंपनी के मैनेजमेंट द्वारा यह निर्णय लिया जाता है कि नेट प्रॉफिट में से कितना कंपनी में दोबारा निवेश करना है और कितना शेयर होल्डर्स को डिविडेंड देना है।
  • जब कंपनी की मैनेजमेंट डिविडेंड देने को तैयार हो जाती है तो उसके बाद कंपनी के Director द्वारा डिविडेंड देने की Announcement की जाती है।
  • Announcement में बताया जाता है कि डिविडेंड किस तारीख, किस रूप में और प्रति शेयर के हिसाब से कितना दिया जाएगा।
  • उसके बाद शेयर होल्डर्स को प्रति शेयर के हिसाब से डिविडेंड मिल जाता है।

डिविडेंड के नियम

  • हर कंपनी अपने शेयर होल्डर्स को डिविडेंड दे यह जरूरी नहीं है।
  • डिविडेंड देने की पॉलिसी और अधिकार कंपनी का Board Of Director तय करता है।
  • अगर कोई कंपनी लगातार डिविडेंड दे रही है तो वह अपनी मर्जी से कभी भी डिविडेंड देना बंद भी कर सकती है।
  • डिविडेंड कितना भी और किसी भी रूप में दिया जा सकता है।

डिविडेंड पॉलिसी क्या होती है?

जिन नियमों और शर्तों के तहत डिविडेंड दिया जाता है, वह ही डिविडेंड पॉलिसी होती है, कंपनी का Board Of Director डिविडेंड पॉलिसी के तहत ही डिविडेंड को शेयर होल्डर्स के बीच बांटते हैं।

FAQ’s

तो चलिए दोस्तों अब हम इस लेख से जुड़े लोगों द्वारा अक्सर पूछे जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण सवाल और उनके जवाब जानते हैं :-

डिविडेंड (लाभांश) क्या है?

डिविडेंड (लाभांश) शेयर कंपनियों द्वारा अपने शेयर होल्डर्स को दिया जाने वाला लाभ का कुछ हिस्सा होता है, जोकि प्रति शेयर के हिसाब से लोगों में बांटा जाता है।

क्या हर कंपनी डिविडेंड (लाभांश) देती है?

जी नहीं, दोस्तों हर कंपनी डिविडेंड नहीं देती और यह जरूरी भी नहीं है कि हर कंपनी डिविडेंड दे, ज्यादात्तर कंपनियां अपनी मर्जी से अपने ग्राहकों को बनाए रखने और नए ग्राहकों को जोड़ने के लिए और ग्राहकों की खुशी के लिए डिविडेंड देती है।

निष्कर्ष :-

तो दोस्तों आज के इस लेख में हमने डिविडेंड (लाभांश) क्या है प्रकार और काम कैसे करता है (Dividend kya hai) के बारे में विस्तार से बताया है, हमें उम्मीद है कि आपको आज का यह लेख अच्छा लगा होगा।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा है तो इसे दोस्तों के साथ, व्हाट्सएप ग्रुप्स, फेसबुक और अन्य प्लैटफॉर्म पर जरुर शेयर करें, और अगर आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट करके जरूर बताएं।

इसके अलावा हम आपके लिए इसी तरह के जानकारी से भरपूर लेख लगातार लेकर आते रहते हैं, इसलिए हमारे साथ जरूर जुड़े रहें।

धन्यवाद।

Read More :

Your Comment

Discover more from वेब ज्ञान हिन्दी

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading