Skip to content

ट्रेडिंग अकाउंट क्या है और Trading Account कैसे बनाएं

5/5 - (2 votes)

इस आर्टिकल में आपको बताया जायेगा ट्रेडिंग अकाउंट क्या है और Trading Account कैसे बनाएं। साथ ही आपको ट्रेडिंग अकाउंट कैसे काम करता है और कुछ पोपुलर स्टॉक ब्रोकर के बारे में बताया जायेगा जिनके साथ आप अपना पहला ट्रेडिंग अकाउंट खोल सकते है उसके बाद शेयर बाजार में निवेश कर सकते है।

ट्रेडिंग अकाउंट का आशय एक ऐसे अकाउंट से है, जिसके माध्यम से निवेशक शेयर मार्केट में शेयर खरीदनें और बेचने के ऑर्डर स्टॉक एक्सचेंज पर भेजनें में सक्षम होते है | जब निवेशक द्वारा शेयर मार्केट में ट्रेडिंग की जाती है, तो उस दौरान धन जमा करनें और निकालने का कार्य बैंक अकाउंट के माध्यम से होता है, और जब हम शेयर का विक्रय करते है, तो इस दौरान शेयर हमारे डीमैट से ट्रेडिंग अकाउंट में ट्रांसफर हो जाते है।

यहाँ तक कि म्यूच्यूअल फंड्स (Mutual Funds) में निवेश के लिए भी ट्रेडिंग आकउंट होना आवश्यक होता है। यदि आप भी शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट या निवेश करना चाहते है, तो ट्रेडिंग अकाउंट क्या है ? इसके बारें में जानकारी देने के साथ ही आपको यहाँ ट्रेडिंग अकाउंट कैसे खोला जाता है? इसके जानकारी विधिवत रूप से दी जा रही है | 

ट्रेडिंग अकाउंट क्या है?

ट्रेडिंग खाता निवेशकों के लिए बैंक खाते और डीमैट खाते के बीच एक कड़ी के रूप में कार्य करता हैं। शेयर खरीदने के ऑर्डर ट्रेडिंग अकाउंट के जरिए दिए जाते हैंं। यदि आर्डर कंप्लीट किया जाता हैं, तो आवंटित शेयरों की संख्या आपके डीमैट खाते में जमा की जाती हैं। उसके अनुसार आपके बैंक खाते से रकम डेबिट की जाती हैं| इक्विटी शेयर आपके ट्रेडिंग खाते के माध्यम से बेचे जाते हैंं| जब आप इक्विटी खरीदना चाहते हैंं तो प्रक्रिया उलट हो जाती हैं। आप अपने डीमैट खाता से निश्चित संख्या में स्टॉक शेयर बेचते हैंं और उसके अनुसार आपके बैंक खाते में धनराशि क्रेडिट की जाती हैं|

ट्रेडिंग अकाउंट कैसे काम करता है?

ट्रेडिंग अकाउंट जो आपके डीमैट खाते और बैंक खाते के बीच पुल का काम करता है जो आपको बाजार में वास्तव में खरीद फरोख्त करने की अनुमति देता है। यह डीमैट खाते के साथ खोलना आवश्यक है। डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट के बीच अंतर की एक पतली सी रेखा है। एक तरफ जहां डीमैट अकाउंट का इस्तेमाल शेयरों को रखने और शेयरों की खरीद-बिक्री को रिकॉर्ड करने के लिए किया जाता है। दूसरी ओर, ट्रेडिंग अकाउंट व्यक्ति को वास्तव में आसानी से खरीद या बिक्री लेनदेन करने में सक्षम बनाता है। इन दोनों खातों को खोलने के साथ, निवेशक आसानी से अपनी जरूरत और सुविधा के अनुसार निवेश और व्यापार के साथ शुरुआत कर सकते हैं।

ट्रेडिंग अकाउंट के फायदे ( Trading Account Ke Fayde )

Shares को Trading Account में रखना बहुत ही फायदेमंद होता है, क्योंकि Trading Account हमे कई प्रकार की सुविधा देता है जैसे:

  1. इससे शेयर्स खरीदना और बेचना बिलकुल आसान हो जाता है।
  2. यह शेयर्स खरीदने के लिए डेबिट और क्रेडिट कार्ड की सुविधा भी देता है।
  3. ट्रेडिंग अकाउंट के ऑनलाइन हो जाने से ब्रोकरेज चार्ज पहले के मुकाबले बहुत ही कम हो गया है।
  4. ट्रेडिंग अकाउंट से आप दुनिया में कही से भी शेयर्स खरीद और बेच सकते है।
  5. शेयर खरीदने पर पैसा कटना और बेचने पर खाते में जमा होना आदि कार्य अपने आप हो जाते है।

अब आप सोच रहे होंगे कि Trading Account Aur DEMAT Account Me Antar क्या है क्योंकि दोनों अकाउंट एक साथ खोले जा सकते है तो आइये हम आपको बताते है Difference Between DEMAT Account And Trading Account In Hindi.

डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट के बीच अंतर

डीमैट खाते और ट्रेडिंग खाते के अलग- अलग उपयोग (फंक्शन्स)

  • डीमैट अकाउंट आपके द्वारा खरीदे या बेचे जाने वाले शेयरों को शेयर बाजार में रखते हैंं। ट्रेडिंग खाता आपके डीमैट खाते में क्रेडिट या डेबिट कर देता हैं।
  • आप सभी एसेट्स को डीमैट खाते में रख सकते हैंं। डीमैट खातों में आप एसेट्स को इलेक्ट्रॉनिक रूप में परिवर्तित कर सकते हैं जबकि ट्रेडिंग खाते आप ऐसा नहीं कर सकते।

जरूर पढ़ें : ट्रेडिंग क्या है और Trading से पैसे कैसे कमाते हैं (2022)

डीमैट खाते और ट्रेडिंग खाते के बीच प्राकृतिक अंतर

  • ट्रेडिंग खाता आपके बैंक खाते की तरह होता हैं, और यह आपके डीमैट खाते से जुड़ा होता हैं।
  • डिस्पोजेबल ट्रेडिंग खाते के विपरीत, आपका डीमैट अकाउंट समय के साथ ब्याज अर्जित कर सकता हैं|
  • इस वजह से आपको एसेट्स में निवेश करने की आवश्यकता समाप्त हो जाती हैं।
  • आपके ट्रेडिंग खाते से शेयर और पैसा दोनों ही निकाले जा सकते हैंं।
  • डीमैट खाता ट्रेडिंग खाते के विपरीत शेयरों और एसेट्स के लिए एक होल्डिंग स्थान होता हैं। डीमैट खाते की वजह से, आपकी संपत्ति बाजार की अस्थिरता से सुरक्षित रहती हैं।

रोल के आधार पर डीमैट खाते और ट्रेडिंग खाते के बीच अंतर

  • डेबिट खाता और ट्रेडिंग खाता दोनों अपने-अपने उद्देश्य की पूर्ति करते हैंं।
  • ट्रेडिंग अकाउंट का उपयोग शेयर बाजार में शेयर खरीदने और बेचने के लिए किया जाता हैं| लेकिन शेयरों का शेयर मूल्य आपके डेबिट खाते में दिखाई देते हैं।

ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाने के लिए आपको आगे बताये गए इन आवश्यक दस्तावेजों की आवश्यकता होगी: ( ट्रेडिंग अकाउंट क्या है और Trading Account कैसे बनाएं )

  1. अकाउंट ओपनिंग फॉर्म
  2. फोटो आईडी प्रमाण: पैन कार्ड/ वोटर आईडी/ पासपोर्ट/ ड्राइविंग लाइसेंस/ आधार कार्ड।
  3. एड्रेस प्रूफ़: टेलीफोन या बिजली बिल/ राशन कार्ड/ पासपोर्ट/ वोटर आईडी/ ड्राइविंग लाइसेंस।
  4. बैंक खाता संख्या
  5. पासपोर्ट साइज़ फ़ोटो

ट्रेडिंग अकाउंट कैसे खोलें?

  • सबसे पहले आपको किसी स्टॉक ब्रोकर या फर्म का चयन करें। इसके साथ ही यह सुनिश्चित करें कि ब्रोकर अच्छा है और आपके ऑर्डर को समय पर ले जाएगा। इस बात का ध्यान रखे याद रखें कि शेयर मार्केट में समय का महत्व बहुत अधिक होता है। कुछ मिनट भी शेयर के बाजार भाव को बदल सकते हैं। इस कारण से सुनिश्चित करें कि आप एक अच्छे ब्रोकर का चयन करें।
  • ब्रोकरेज दरों की तुलना करें, आपकी जानकरी के लिए बता दें कि प्रत्येक ब्रोकर आपके ऑर्डर को संसाधित करने के लिए आपसे एक निश्चित शुल्क लेता है। कोई ब्रोकर अधिक चार्ज कर सकता है अथवा कम। इसलिए ब्रोकरेज दरों की तुलना करना अत्यंत आवश्यक है |
  • कुछ आयोजित किए गए ट्रेडों की मात्रा के आधार पर छूट देते हैं। खाता खोलने से पहले इन सब बातों का ध्यान रखें। हालांकि ध्यान रखें, कि सबसे कम फीस लेने वाले ब्रोकर को चुनना जरूरी नहीं है। अक्सर प्रदान की जाने वाली अच्छी गुणवत्ता वाली ब्रोकरेज सेवाओं को औसत से अधिक शुल्क की आवश्यकता हो सकती है।
  • इसके पश्चात ब्रोकरेज फर्म या ब्रोकर से संपर्क करें और खाता खोलने की प्रक्रिया के बारे में पूछताछ करें। अधिकांशतः फर्म खाता खोलने के फॉर्म और अपने ग्राहक को जानिए (केवाईसी) फॉर्म के साथ आपके घर एक प्रतिनिधि भेजती है |
  • इन दोनों फॉर्म को सावधानी से भरनें के साथ ही 2 दस्तावेजों के साथ जमा करें, जो आपकी पहचान और पते के प्रमाण के रूप में कार्य करते हैं।
  • आपके आवेदन का सत्यापन या तो व्यक्तिगत रूप से या फोन पर किया जाएगा, जहां आपको अपना व्यक्तिगत विवरण प्रकट करने के लिए कहा जाएगा।
  • एक बार संसाधित होने के बाद, आपको अपने ट्रेडिंग खातों का विवरण दिया जाएगा। जिसकी सहायता से अब आप शेयर मार्केट में ट्रेडिंग अर्थात व्यवसाय कर सकेंगे |

जरूर पढ़ें : नए लोग शेयर बाजार से पैसा कैसे कमाए

ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के लिए सबसे अच्छी कंपनी कौन सी है?

कुछ सालों पहले बड़े ब्रोकर अपने क्लाइंट्स से ट्रेडिंग के लिए भारी ब्रोकरेज वसूल किया करते हैं और अभी भी करते हैं। बस अंतर यह हैं की पहले आपके पास डिस्काउंट ब्रोकर का विकल्प मौजूद नहीं था, अब यह विकल्प आपके पास मौजूद हैं।

भारत में अभी के समय सैकड़ों स्टॉक ब्रोकर मौजूद हैं लेकिन ऐसा नहीं हैं की हम सिर्फ आँख मूंद के किसी भी ब्रोकर के पास अपना डीमैट अकाउंट खुलवा ले। हमेशा एक विश्वसनीय और स्थापित (reputed) ब्रोकर को ही सेलेक्ट करे।

मैं यहां आपको कोई लम्बी-चौड़ी Best Brokers की लिस्ट नहीं दूंगा। मैंने सिर्फ 4 Best Discount Broker को सलेक्ट किया हैं। आप अपनी पसंद के अनुसार कोई भी एक डिस्काउंट ब्रोकर को चुन सकते हैं जो आपको बेस्ट डीमैट अकाउंट लगे। ये सभी अच्छे और विश्वसनीय स्टॉक ब्रोकर हैं।

निष्कर्ष | Trading Account kya hai aur kaise banaye.

उम्मीद करते हैं, इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको ट्रेडिंग अकाउंट क्या है और Trading Account कैसे बनाएं, इस बारे में जानकारी मिली। इस पोस्ट में शेयर मार्किट में निवेश से पहले ट्रेडिंग अकाउंट खोलने की प्रक्रिया बताई गयी है, जिससे कोई नया से नया व्यक्ति अपने शेयर मार्केट की जर्नी की शुरुआत कर सकता है। क्योकि शेयर मार्किट में ट्रेडिंग एक जोखिम से भरा कार्य है, इसलिए आपको कुछ इसके नियम और टिप्स को ध्यान में रखकर ट्रेडिंग करना चाहिए।

हमने इसके सभी महत्वपूर्ण बातों की चर्चा ( ट्रेडिंग अकाउंट क्या है ) इस पोस्ट में किया है। ट्रेडिंग अकाउंट बनाने के बाद अब बारी आती है शेयर कब खरीदना चाहिए। किसी भी शेयर को खरीदने से पहले उसके बारे में अच्छे से रिसर्च करें और फिर पता करें कि शेयर का दाम बढ़ा है या गिरा है। उसके बाद ही किसी शेयर को खरीदें। अगर आप बिना रिसर्च किए स्टॉक मार्केट में निवेश करते है तो यह बहुत रिस्की हो जाता है। शेयर मार्केट में कौन सी कंपनी के शेयर का दाम बढ़ा या गिरा इसका पता लगाने के लिए आप The Economic TimesMoneycontrol जैसी साईट का उपयोग कर सकते है।

Join the conversation

Your email address will not be published.