basic knowledge of share market in hindi

आइए इसके बारे में जानें। यहां हम क्या कवर करेंगे:

Basic knowledge of share market in hindi : शेयर मार्केट का नाम आप बहुत ही ज्यादा सुने होंगे। लेकिन इसकी पूरी जानकारी अधिकतर लोगों के पास नहीं हैं। तो इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें ताकि शेयर बाजार की सामान्य जानकारी आपको दुबारा न पढ़ना पड़े।

आज हर कोई चाहता है कि हमारा पैसा जल्दी से जल्दी डबल हो जाए। चाहे वो किसी बिज़नेस में इन्वेस्ट करके हो या कोई अन्य विकल्प से। लेकिन, वहीं शेयर बाजार में पैसा नहीं लगाना चाहते। क्योंकि, उन्हें डर होता है कहीं पैसा डूब न जाए।

एक तरह से ये सही है, शेयर बाजार की सही जानकारी जब तक न हो पैसा नहीं लगाना चाहिए। यह बहुत ही ज्यादा रिस्की होता है। लेकिन, ये सच बात है कि लोग इस बाजार से लाखो रुपया कमा रहे हैं, उसके लिए आपको पहले इसके बारे(Basic knowledge of share market in hindi) में बहुत ही बढ़िया ढंग से जानकारी हासिल करना होगा।

Basic knowledge of share market in hindi

basic knowledge of share market in hindi (शेयर बाजार की सामान्य जानकारी)

नए निवेशकों के लिए शेयर बाजार की सामान्य जानकारी सफलता प्राप्त करने में मदद कर सकती हैं। पहले से ही शेयर बाजार की समझ होना महत्वपूर्ण है। आपको बाजार के नियम, विभिन्न शेयरों के प्रकार, और बाजार में होने वाली गतिविधियों को समझना चाहिए। शेयर मार्केट के बेसिक ज्ञान ( Basic knowledge of share market in hindi ) के लिए इस बाजार में उपयोग किये जाने वाले इससे सम्बंधित सभी शब्दों को जानना होगा।

जैसे – यहां कुछ महत्वपूर्ण शब्दों का हिंदी में अर्थ दिया गया है:

शेयर क्या है ?

जब कोई कंपनी बाजार में लिस्ट होने के बाद खरीद-बिक्री के लिए अपना शेयर जारी करती है। तो उस कंपनी के कुल वैल्यू यानि मूल्य को कई हिस्सों में बांटा जाता है और उसी एक हिस्सा को शेयर कहते है। शेयर एक तरह का वित्तीय प्रमाणपत्र के रूप में होता है, जो किसी कंपनी की आंशिक मालिकी का हिस्सा को दर्शाता है और शेयरधारकों को उनके द्वारा खरीदें गए शेयर के अनुसार उस कंपनी के लाभ का हिस्सा देता है।

शेयर बाजार क्या है ?

शेयर बाजार एक वित्तीय बाजार है जहां विभिन्न कंपनियों के शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं। यह बाजार व्यापारिक गतिविधियों, निवेश और लोगों के बीच संबंध बनाने का एक स्थान होता है। शेयर बाजार का मुख्य उद्देश्य कंपनियों को पूंजी जुटाने में मदद करना और व्यापारिक गतिविधियों के माध्यम से निवेशकों को मुनाफा कमाने का अवसर प्रदान करना होता है।

जरूर पढ़ें : शेयर क्या है और कितने प्रकार के होते है ?

स्टॉक क्या होता है ?

स्टॉक (Stock) आमतौर पर शेयर को कहा जाता है, जो किसी कंपनी में हिस्सा को दर्शाता है। जब एक कंपनी बाजार में लिस्ट होती है, तो उसका कुल मूल्य विभिन्न स्टॉक्स में बाँटा जाता है, जिसे लोग खरीदते और बेचते हैं।

मूल रूप से शेयर और स्टॉक का मतलब एक ही होता यानि दोनों कंपनी में हिस्सेदारी को दर्शाती है लेकिन बाजार में निवेशक या ट्रेडर इसका उपयोग एक दूसरे के स्थान पर करते हैं। दोनों में स्वभाव और मात्रा का अंतर है। शेयर एक छोटी यूनिट होती है, तो स्टॉक एक बड़ी मात्रा है।

स्टॉक ब्रोकर क्या होता है ?

स्टॉक ब्रोकर एक संस्था या व्यक्ति है, जो निवेशकों को शेयर बाजार में निवेश करने में मदद करता है। यह संस्था या व्यक्ति ब्रोकरेज फर्म या स्वतंत्र पेशेवर के रूप में सेवाएं प्रदान करता है। स्टॉक ब्रोकर की प्रमुख काम शेयरों खरीदने और बेचने के लिए बाजार से आदेश प्राप्त करना, निवेशकों को सलाह देना, बाजार अनुसंधान करना, और उन्हें बाजार के विभिन्न पहलुओं के बारे में सूचित करना होता है।

Nifty और Sensex क्या होता है ?

भारतीय शेयर बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव का संकेत देने वाले दो इंडेक्स हैं। जिसे Nifty (NSE) और Sensex (BSE) कहते हैं।

  • Nifty (NSE) एक शोर्ट फॉर्म है जिसे “National Stock Exchange Fifty” कहा जाता है। NSE (National Stock Exchange) में लिस्ट हुई 50 सबसे बड़ी भारतीय कंपनियों का एक इंडेक्स है।
  • Sensex (BSE) का पूरा नाम “Sensitive Index” है और यह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का इंडेक्स है। यह 13 अलग-अलग सेक्टर की 30 कंपनियों के शेयरों में होने वाले उतार-चढ़ाव यानी इंडेक्स को दिखाता है।

निफ्टी (Nifty) और सेंसेक्स (Sensex) दोनों ही भारतीय शेयर बाजार के इंडेक्स होते हैं, जो बाजार की स्थिति, उच्चतम और न्यूनतम मूल्यों, और बाजार में गति को समझने में मदद करता है।

Bullish और Bearish क्या होता है ?

Bullish और Bearish क्या होता है ?

Bullish और Bearish दोनों शेयर मार्किट में कंपनी के शेयर की गतिविधि को बताता है। bull market का मतलब बाजार में शेयर के मूल्य में तेजी और Bear market का मतलब बाजार में शेयर के मूल्य मंदी यानि गिरावट होता है।

Individual Retail Investor क्या होता है ?

इंडिविजुअल रिटेल इन्वेस्टर (Individual Retail Investor) वह व्यक्ति होता है जो अपने व्यक्तिगत खाते के माध्यम से शेयर बाजार में निवेश करता है और शेयरों को खरीदता और बेचता है, न कि बड़ी निवेशक संस्था।

इसका मतलब है कि यह व्यक्ति बाजार में सीधे रूप से डिस्काउंट ब्रोकरेज, या रॉबिनहुड जैसे ऐप्स का इस्तेमाल करके शामिल होता है और निवेश के फैसलों का स्वतंत्र रूप से अधिग्रहण करता है।

Demat Account क्या होता है ?

डिमैट एकाउंट (Demat Account) एक online Account है इसका पूरा नाम “Dematerialized Account” है। यह खाता शेयर बाजार में वित्तीय सुरक्षाओं की खरीद-बिक्री को सुरक्षित और आसान बनाने के लिए होता है।

शेयर मार्केट में कदम रखने के लिए सबसे पहले आपको एक Demat Account खोलना होता है। जिसमें आप अपनी विभिन्न वित्तीय सुरक्षाएं जैसे कि शेयर, बॉन्ड्स, और म्यूचुअल फंड्स को इलेक्ट्रॉनिक रूप से संग्रहित कर सकते हैं।

जब आप शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं, तो आपको इस खाते की आवश्यकता होती है। Demat Account ब्रोकर, बैंक, या वित्तीय संस्था के साथ खोला जा सकता है। जब आपका Demat Account खुल जाता है, तो आप ब्रोकर के माध्यम से शेयर बाजार में निवेश करना शुरू कर सकते हैं।

जरूर पढ़ें : डीमैट अकाउंट क्या है, इसके प्रकार और Demat Account खोलने की प्रक्रिया 2024

Trading Account क्या होता है ?

ट्रेडिंग अकाउंट एक वित्तीय खाता होता है जिसे निवेशक शेयर बाजार में विभिन्न वित्तीय सुरक्षाओं में निवेश करने के लिए खोलते हैं। इसके माध्यम से निवेशक शेयरों, बॉन्ड्स, म्यूचुअल फंड्स, और अन्य वित्तीय सुरक्षाओं में खरीददारी और बिक्री कर सकते हैं।

ट्रेडिंग अकाउंट बाजार में व्यापार करने के लिए एक ब्रोकर फर्म या वित्तीय संस्थान के साथ खोला जाता है। इसमें निवेशक को एक खाता नंबर और एक यौगिक पहचान दिया जाता है, जिससे वह बाजार में विभिन्न सुरक्षाओं के लिए आदेश दे सकता है।

ट्रेडिंग अकाउंट निवेशक को बाजार में खरीद और बिक्री करने की अनुमति देने के साथ-साथ, यह उसे बाजार में हो रही गतिविधियों, स्थिति, और मौद्रिक सुरक्षा जानकारी की पहुंच प्रदान करता है।

जरूर पढ़ें : ट्रेडिंग अकाउंट क्या है और Trading Account कैसे बनाएं?

शेयर बाजार की सामान्य जानकारी विस्तार से

शेयर बाजार एक प्रकार का बिज़नेस है, जिसमे आप किसी भी कंपनी के शेयर खरीदकर उस कंपनी के शेयर होल्डर (हिस्सेदार) बन सकते हैं। आप अपने शेयर को बेच कर पैसा कमा सकते हैं। इसकी खरीद और बिक्री जहाँ होती है उसे स्टॉक एक्सचेंज कहते हैं।

सभी लेन-देन स्टॉक एक्सचेंज के नेटवर्क से जुड़े कंप्यूटरों के जरिये होता है। आज सब कुछ ऑनलाइन इंटरनेट पर उपलब्ध है। लेकिन एक समय था इसकी बोली भी मौखिक होती थी। पहले के अपेक्षा अब बहुत आसान हो गया है इस बाजार को समझना।

अगर कंपनी प्रॉफिट में जा रही तब आप अपने शेयर को बेचते हैं, तो आपको फायदा होता है। जो इस क्षेत्र में सुध-बुध से काम लेता है वो ही सफल होता है। अन्य लोकल बाज़ार की तरह शेयर बाज़ार में भी खरीदने और बेचने वाले एक-दूसरे से मोल-भाव कर के सौदे पक्के करते हैं। इन शेयर के दाम बढ़ते घटते रहते हैं !

शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं

अधिकांश लोग शेयर बाजार में दूसरे के हिसाब से निवेश करते हैं। जिस कारण नुकसान होने की संभावना बढ़ जाती है या अधिक मुनाफ़ा नहीं होता है। अगर आप भी शेयर बाजार में निवेश कर पैसा कमाना चाहते हैं, तो सबसे पहले आप शेयर बाजार की सामान्य जानकारी को जानिए फिर निवेश कीजिए।

आप किसी कंपनी का शेयर खरीदना चाहते हैं, तो आप सबसे पहले उस कंपनी के बारे में खुद से जाँच -पड़ताल कर लें। कंपनी का ग्रोथ क्या है, किस इंडस्ट्री से कंपनी है, उस इंडस्ट्री की मौजूदा हालत क्या है और भविष्य में वह इंडस्ट्री कितना ग्रोथ कर सकती है। दूसरे के बातों में आ कर कभी निवेश ना करें। पहले शेयर बाजार की सामान्य जानकारी जानने की कोसिस करें।

अगर आप शेयर मार्केट में पैसा लगाना चाहते हैं तो आपको एक डीमैट अकाउंट और एक ट्रेडिंग अकाउंट की जरूरत पड़ती है, और यह दोनों ही अकाउंट को खुलवाने के लिए आपको किसी एक स्टॉक ब्रोकर से संपर्क करना होगा।

Stock Broker : स्टॉक ब्रोकर इस बाजार का एक महत्वपूर्ण कड़ी है, जो आपको स्टॉक एक्सचेंज से जोड़ता है, इनके बिना ना ही आप कोई शेयर खरीद सकते ना ही बेच सकते हैं। किसी भी निवेशक के द्वारा buy या sell के आर्डर को स्टॉक एक्सचेंज तक पहुंचाने का काम भी स्टॉक ब्रोकर का ही होता है।

यूजर >> स्टॉक ब्रोकर << स्टॉक एक्सचेंज 

जब आप किसी कंपनी का शेयर खरीदते हैं। आपको कंपनी से कोई मतलब नहीं होता, जब तक कंपनी का जितना शेयर आपके पास है। वो आपके डीमैट अकाउंट में शो होगा। जब उसका रेट बढे, आपको लगे की बेच देना चाहिए। तब आप स्टॉक ब्रोकर से संपर्क कर के या ऑनलाइन आर्डर लगा सकते हैं। इन ब्रोकर द्वारा एक्सचेंज में आर्डर लगायी जाएगी की आप फलाने कंपनी की शेयर बेचना चाहते हैं। जिस तरह आप बेचने का आर्डर लगाते हैं, उसीतरह वहां बहुत सारे लोगो की शेयर खरीदने की आर्डर लगती है।

जरूर पढ़ें : Trading से पैसे कैसे कमाते हैं | Trading Se Paise Kaise Kamaye 2024

Stock Exchange

भारत में दो Stock Exchange कार्यरत हैं, जहाँ से आप शेयर खरीद सकते हैं –

  • NSE – National Stock Exchange
  • BSE – Bombay Stock Exchange

कोई भी लिस्टेड कंपनी के शेयर्स Stock Exchange के माध्यम से ख़रीदे और बेचे जाते हैं। जो कंपनी Stock Exchange पर अपने शेयर्स ट्रेड करने के लिए लिस्टेड हो। ये ख़रीद और बिक्री किसी स्टॉक ब्रोकर के माध्यम से की जाती हैं। ये एक्सचेन्ज स्टॉक ब्रॉकर तक सारी नयी अपडेट्स पहुँचाती है और स्टॉक ब्रोकर यूजर तक।

Companies >>    Stock Exchange >>   Stock Broker >>   User

ऐसा नहीं है कि मात्र शेयर ही स्टॉक मार्केट में ट्रेड किए जाते हैं। इसके अलावा बांड्स, म्यूच्यूअल फंड्स, डेरिवेटिव कॉन्ट्रैक्ट भी Share Market में ट्रेड किये  जाते हैं।

Read More : सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के साथ मिल रहा 50 लाख का फ्री इंश्योरेंस

स्टॉक ब्रोकर कितने प्रकार के होते हैं?

भारत में स्टॉक ब्रोकर के द्वारा दी जाने वाली सर्विस के आधार पर मुख्य दो प्रकार के स्टॉक ब्रोकर होते हैं।

1. फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर (Full-Service Broker) :

फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर की फीस काफी ज्यादा होती है। इसका मुख्य कारण यह है कि फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर अपने क्लाइंट को काफी सारी सर्विस प्रदान करते हैं। जैसे स्टॉक एडवाइजरी (अर्थात कौन सा शेयर कब खरीदें कब बेचें), स्टॉक खरीदने की मार्जिन मनी की सुविधा, मोबाइल फोन पर ट्रेड की सुविधा,IPO मैं निवेश करने की सुविधा इसके अलावा फुल टाइम स्टॉक ब्रोकर की कस्टमर सर्विस काफी अच्छा माना जाता है। इनकी सब ब्रोकर या ब्रांच कई शहरों में होते हैं।फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर में सबसे ज्यादा पॉपुलर कुछ ब्रोकर हैं- ICICI  DIRECT,SHERKHAN,HFL,HDFC SECURITIES LTD इत्यादि.

Top 10 Full-Service Brokers 2024

BrokerMinimum BrokerageAcct Opening FeeBrokerage (Eq Delivery)Active Clients
Angel BrokingEquity Rs 20 | F&O Rs 30Rs 0 (Free)Rs 0 (Free)2,152,468
ICICIdirectRs 35 per trade (I-Secure Plan)Rs 0 (Free)0.55%1,952,592
HDFC SecuritiesRs 25 plus taxesRs 9990.50%977,645
Kotak SecuritiesRs 21 per executed orderRs 7500.49%844,627
SharekhanIntraday: 5 paisa per share | Delivery: 10 paisa per share | Future Rs 0.001 per shareRs 0 (Free)0.50%734,556
Motilal OswalRs 25 for Delivery and Rs 12 for IntradayRs 00.50%680,499
AxisDirectRs 20 per tradeRs 9000.50%466,309
SBI SecuritiesRs 0.05 for Cash, Rs 0.01 FutureRs 8500.50%354,229
Geojit1p per share or Rs 20/contract whichever is higherRs 4250.30%218,683
Edelweiss0.03% Equity delivery, 0.01% Intra-day and FuturesRs 0 (Free)Rs 10 per executed order168,319
Basic knowledge of share market in hindi

2. डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर (Discount Stock Broker)

डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर की अपेक्षा काफी सस्ता होते हैं। डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर अपने क्लाइंट को काफी कम ब्रोकरेज लेकर शेयर को खरीदने और बेचने की सुविधा प्रदान करते हैं। डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर इसलिए कम फीस लेते हैं, क्योंकि वे अपने क्लाइंट को स्टॉक एडवाइजरी और रिसर्च की सुविधा नहीं देते हैं।और इनका ऑफिस भी कुछ बड़े शहरों में ही होते हैं। इनका ज्यादा काम ऑनलाइन ही होता है इनका अकाउंट ओपन करने का काम भी ऑनलाइन ही होता है, इसलिए इनका फीस कम होता है। भारत में कुछ पॉपुलर डिस्काउंट ब्रोकर हैं-ZERODHA,SOUTH ASIAN STOCK LTD, MASTER CAPITAL SERVICES LTD इत्यादि

जरूर पढ़ें : Discount Broker क्या है | भारत में 7 सर्वश्रेष्ठ डिस्काउंट ब्रोकर

Top 10 Discount Brokers 2024

RankBrokerActive Clients
1Zerodha4,543,870
2Upstox3,310,215
3Groww1,568,235
45paisa1,089,828
5Paytm Money161,752
6Alice Blue141,760
7SAMCO79,157
8Fyers55,902
9Master Trust51,878
10Tradeplus21,164
Basic knowledge of share market in hindi

स्टॉक ब्रोकर इन सब सौदा करवाने का फीस लेता है ! स्टॉक ब्रोकर आपसे हर आर्डर की एक तय फीस लेता है जिसे हम ब्रोकरेज फीस कहते हैं। दोस्तों हर स्टॉक ब्रोकर की ब्रोकरेज फीस अलग-अलग होती है. यह आपके स्टॉक ब्रोकर के ऊपर निर्भर करता है कि वह कितना ब्रोकरेज फीस लेता है।

नए लोग शेयर बाजार से पैसा कैसे कमाए

अब बात आती है कि नए लोग शेयर बाजार से पैसा कैसे कमाए, तो दोस्तों सबसे पहले आपको ये तय करना होगा की किस टाइप की सर्विस आपके लिए अच्छी है। तो उसको पहले समझे, फिर आप ये सलेक्ट करे कि कौन स्टॉक ब्रोकर आपके लिए अच्छा होगा। वो चुने और वहां अपना अकाउंट ओपन करें। फिर आप शेयर खरीद सकते हैं। और सही समय आने पर उसको बेच कर पैसा कमा सकते हैं।

शेयर मार्केट में शुरुआत करने के लिए आपको कुछ मुख्य कदम निम्नलिखित होते हैं:

  1. अकाउंट खोलें: सबसे पहला कदम यह है कि आपको एक ट्रेडिंग अकाउंट और डिमैट एकाउंट खोलना होगा। आप इसे किसी बैंक, ब्रोकर फर्म, या वित्तीय संस्थान से खोल सकते हैं।
  2. शेयर बाजार का अध्ययन करें: आपको शेयर बाजार के बारे में अच्छे से समझना होगा। इसमें विभिन्न कंपनियों के शेयर, बाजार की गतिविधियाँ, और आर्थिक समीक्षा शामिल होती हैं।
  3. निवेश के लक्ष्य तय करें: आपको यह निर्धारित करना होगा कि आपका निवेश क्या लक्ष्य प्राप्त करने का है – लंबे समय तक का होल्डिंग, या छोटे समय में मुनाफा कमाने का।
  4. शेयरों में निवेश का निर्णय: आपको अच्छे से शेयरों का अध्ययन करके उनमें निवेश का निर्णय लेना होगा। इसमें अधिकतम मुनाफा की संभावना और जोखिम प्रबंधन शामिल हैं।
  5. वित्तीय स्थिति का मूल्यांकन: आपको अपनी वित्तीय स्थिति को ध्यान में रखते हुए निवेश करना चाहिए। आपकी आर्थिक स्थिति, निवेश की राशि, और आवश्यकताओं को मध्यस्थ करते हुए निवेश करें।
  6. बाजार में जानकारी रखें: निवेशकों को बाजार की ताजगी, समाचार, और अन्य गतिविधियों को निगरानी में रखना चाहिए ताकि वे अपने निवेशों को बेहतरीन रूप से प्रबंधित कर सकें।
  7. स्वतंत्रता और धीरज बनाए रखें: शेयर मार्केट में निवेश करते समय स्वतंत्रता और धीरज बनाए रखना महत्वपूर्ण है। बाजार में उतार-चढ़ाव हो सकते हैं, और इसलिए आपको अपने निवेश के परिणामों के साथ सहजीवनी रूप से स्थिर रहना चाहिए।

इन सभी कदमों को ध्यान में रखकर, आप शेयर मार्केट में सावधानीपूर्वक निवेश कर सकते हैं।

इस खरीदने बेचने की प्रक्रिया में आपको विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है नहीं तो आपको नुकसान का भी सामना करना पड़ सकता है। इसलिए Basic knowledge of share market in hindi में मैंने आपको इस बाजार से सम्बंधित उपयोग किये जाने वाले मुख्य शब्दों से इस पोस्ट में परिचय कराया। अभी आपको शेयर बाजार की सामान्य जानकारी लेना चाहिए।

जरूर पढ़ें : करोड़ों रुपये शेयर बाजार से कमाने वाले प्रोफेसर शिवानंद मानेकर की कहानी

Conclusion

इस पोस्ट के माध्यम से मैंने आपको शेयर बाजार से संबंधित मुख्य शब्दों की सामान्य जानकारी प्रदान की है। इससे आपको शेयर मार्केट में कदम रखने के लिए आवश्यक मूल ज्ञान प्राप्त हो सकता है, जिससे आप इस बाजार में बेहतर रूप से समझ सकते हैं और स्वयं को सुरक्षित रूप से निवेश कर सकते हैं।

दोस्तों उम्मीद करता हूँ यह लेख शेयर बाजार की सामान्य जानकारी (Basic knowledge of share market in hindi), आपके लिए उपयोगी रहा होगा। जिसे पढ़ कर आप शेयर बाजार में पहला कदम रख सकते हैं।

अगर फिर भी अगर कुछ समझ नहीं आया तो कृपा करके एक कमेंट करे। ताकि मैं बढ़िया ढंग से दूसरे लेख में आपको बता सकूँ। अगर इस प्रकार की और भी जानकारी चाहते है तो इस बी;ब्लॉग को ईमेल के माध्यम से सब्सक्राइब कर सकते हैं। नीचे दिए गए नोटिफिकेशन बेल् को दवाकर रोजाना नया अपडेट्स अपने मोबाइल पर पाए। धन्यवाद !!

जरूर पढ़ें : Passive income sources in hindi 2024 | बिना कुछ किए आमदनी का जरिया

FAQ.

Basic knowledge of share market in hindi

Q. शेयर मार्केट में क्या करना पड़ता है?

Ans: शेयर बाजार एक वित्तीय बाजार है जहां विभिन्न कंपनियों के शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं। शेयर बाजार का मुख्य उद्देश्य कंपनियों को पूंजी जुटाने में मदद करना और व्यापारिक गतिविधियों के माध्यम से निवेशकों को मुनाफा कमाने का अवसर प्रदान करना है।

Q. अपना पहला शेयर कैसे खरीदें?

Ans: पहला शेयर खरीदने के लिए सबसे पहले किसी भी बैंक या ब्रोकरेज फर्म की सहायता से एक डीमैट और एक ट्रेडिंग अकाउंट खोलना होता है। उसके बाद ट्रेडिंग अकाउंट में पैसा जमा करना होता है और फिर उन्हें चयनित शेयरों को खरीदने के लिए आदेश देना होता है।

Q. स्टॉक खरीदते समय क्या देखना चाहिए?

Ans: स्टॉक खरीदते समय, कंपनी की फाइनेंशियल स्थिति जिसमें लाभ, निगमन और आर्थिक सूचना शामिल होती है। कंपनी के पूर्व रिकॉर्ड, शेयर की मूल्य स्थिति का निरीक्षण, बाजार के ट्रेंड का अध्ययन, और शेयर के उच्चतम-न्यूनतम स्तरों का ध्यान रखना भी निवेशकों के लिए महत्वपूर्ण है।

Q. शेयर कहाँ से खरीदें?

Ans: शेयर खरीदने के लिए कई स्थान हैं जहां आप निवेश कर सकते हैं। सबसे सामान्य रूप से, व्यक्ति बैंकों के माध्यम से ट्रेडिंग अकाउंट खोलकर शेयर खरीद सकते हैं। ब्रोकरेज फर्मों का भी सहारा ले सकते हैं, अन्य एक विकल्प है म्यूचुअल फंड, जिसमें निवेशकों को पेशेवर प्रबंधन द्वारा उनके लिए निवेश किया जाता है।

Q. सेंसेक्स और निफ्टी का मतलब क्या है?

Ans: भारतीय शेयर बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव का संकेत देने वाले दो इंडेक्स हैं। जिसे Nifty (NSE) और Sensex (BSE) कहते हैं। NSE (National Stock Exchange) में लिस्ट हुई 50 सबसे बड़ी भारतीय कंपनियों का एक इंडेक्स है। Sensex (BSE) यह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का इंडेक्स है। यह 13 अलग-अलग सेक्टर की 30 कंपनियों के शेयरों में होने वाले उतार-चढ़ाव यानी इंडेक्स को दिखाता है।

Leave a Comment