MBA चाय वाला कौन है | MBA Chai Wala Wikipedia

5/5 - (1 vote)

युवा बिज़नेस मैन Prafull Billore के 10 हजार रूपये से करोड़पति बनने का सफर (MBA Chai Wala Wikipedia) कैसे हुयी शुरुआत,आगे की योजना क्या है ?

नमस्कार दोस्तों, इस पोस्ट में आप मशहूर MBA चाय वाला की पूरी कहानी को जानेंगे, कैसे इस बिज़नेस की शुरुआत एक चाय के ठेले से हुई और कैसे बन गयी करोड़ो रूपये की कंपनी। आपने दुनियां में बहुत सारे लोगों के अर्श से फर्श की कहानी को सुने होंगे,

लेकिन MBA चाय वाला की कहानी कुछ अलग है, इनके संस्थापक आज युवाओं के लिए एक प्रेरणा बन चुके हैं। जिसप्रकार, सोशल मीडिया से मेन स्ट्रीम मीडिया तक MBA चाय वाला ने धूम मचाया। लोगों को आज जितना आसान लग रही है MBA Chai Wala की सफर। उनका संघर्ष भी उतना ही जबरदस्त थी। इस पोस्ट में आगे पूरी कहानी बताई गयी है।

आइये सबसे पहले इस बिज़नेस के संस्थापक के बारें में जानते हैं –

MBA चायवाला कौन है ? – MBA Chai Wala Wikipedia

एक ऐसे चायवाले के बारे में जिसने अपनी काबिलियत के दम पर दुनियां को ये बताया की कोई भी काम छोटा या बड़ा नही होता, बस इंसान की सोच बड़ी होनी चाहिए। हम बात कर रहे है, MBA Chai Wala Franchise Business के संस्थापक Prafull Billore की, जो अपने फेमस नाम MBA Chaiwala के नाम से आज हर जगह लोकप्रिय है। MBA चायवाला यानि प्रफुल्ल आज हर नौजवान के लिए प्रेरणा बन रहे है। जो अपने लाइफ में बहुत कुछ करना चाहते है, पर उनके हौसले प्रफुल्ल जितने बुलंद नहीं।

Founder- MBA Chai wala Wikipedia :Details
पूरा नामप्रफुल्ल बिल्लोरे
जन्मतिथि14 जनवरी 1996
जन्म स्थानइंदौर, मध्यप्रदेश
अन्य नाममिस्टर बिल्लोरे अहमदाबाद (MBA)
पेशाचाय का व्यापार
शिक्षाएम.बी.ए ( अपूर्ण )
वर्त्तमान पताअहमदाबाद, गुजरात
कंपनीMBA Chai wala
टर्न-ओवर5 से 6 करोड़ रुपए
ब्रांचपुरे देश में 50+
Prafull Billore Wikipedia
MBA चायवाला कौन है ? - MBA Chai Wala Wikipedia

भारत में कई ऐसे चाय कैफ़े है। जो Franchise Business Model पर चल रहे है और एक ऐसा ही Tea Cafe, MBA Chaiwala जो उधमियों के लिए एक आकर्षक व्यवसाय करने का अवसर प्रदान करता है, इस बिज़नेस से जो भी लोग जुड़े हुए है वो पहले ही बहुत प्रॉफिट कमा रहे है चाय का बिज़नेस भारत में बहुत ही फैला हुआ बिज़नेस है जो लगातार बढ़ता चला का रहा है।

अगर आप सोच रहे हैं की प्रफुल्ल बिल्लोरे की सफलता की कहानी बहुत साधारण है, तो आप गलत हैं। चलिए जानते हैं MBA Chaiwala Prafull Billore के 10 हजार रूपये से करोड़पति बनने का सफर (MBA Chai Wala Wikipedia) कैसे हुयी शुरुआत,आगे की योजना क्या है ?

MBA चाय वाला बिज़नेस की शुरुआत कैसे हुई ?

किसान परिवार के प्रफुल्ल बिल्लौरे IIM अहमदाबाद से MBA करना चाहते थे, लेकिन जब सक्सेस हाथ नहीं लगी तो दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों की ओर अपना रुख करना चाहा लेकिन काफी दिनों तक अहमदाबाद में बिताने के वजह से वहां की आवोहवा प्रफुल्ल को काफी पसंद आई। भारत के अन्य बड़े शहरो से बढ़िया अहमदाबाद ही लगने लगा।

जिस कारण अहमदाबाद शहर इतना पसंद आया कि वो वहीं बसने की सोचने लगे। अब रहने के लिए पैसे चाहिए और पैसे के लिए कुछ न कुछ तो करना ही पड़ेगा, यही सोचकर प्रफुल्ल ने अहमदाबाद में मैकडॉनल्ड में नौकरी कर ली। यहां प्रफुल्ल को 37 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से पैसे मिलते थे और वह दिन में करीब 12 घंटे काम करते थे।

कुछ बड़ा करने की सोच को लेकर सीरियस प्रफुल्ल बिल्लोरे को नौकरी करते हुए एहसास हुआ कि वह जिंदगी भर मैकडॉनल्ड की नौकरी तो नहीं कर सकते, इसलिए उन्होंने अपना खुद का बिजनेस शुरू करने की सोची। लेकिन बिजनेस शुरू करने के लिए पैसे, प्रफुल्ल के पास नहीं थे। ऐसे में प्रफुल्ल ने ऐसा बिजनेस करने के बारे में सोचा जिसमें पूंजी भी कम लगे और आसानी से भी हो जाए।

बस यहीं से चाय का काम शुरू करने का आइडिया उनके दिमाग में आया। काम की शुरुआत के लिए प्रफुल्ल ने अपने पिता से झूठ बोलकर पढ़ाई के नाम पर 10 हजार रुपए मांगे। इन्हीं पैसों से प्रफुल्ल ने चाय का ठेला लगाना शुरू किया और बाद में अपने दुकान का नाम रखा MBA चाय वाला।

MBA चाय वाला’ मतलब ‘मिस्टर बिल्लौरे अहमदाबाद’

पहले दिन प्रफुल्ल बिल्लौरे की एक भी चाय नहीं बिकी तो उन्होंने सोचा कि अगर कोई मेरे पास चाय पीने नहीं आ रहा तो क्यों ना मैं खुद उसके पास जाकर अपनी चाय ऑफर करूं। प्रफुल्ल वेल एजुकेटेड हैं, अच्छी इग्लिश बोलते हैं, उनकी यह तरकीब काम आई और सब बोलते कि चाय वाला भी अंग्रेजी बोलता है, और चाय की दुकान चल निकली। दूसरे दिन 6 चाय बेची पर चाय 30 रुपए के हिसाब से 150 रुपए कमाए।

प्रफुल्ल सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक जॉब करते थे और शाम 7 बजे से रात 11 बजे तक अपने चाय का स्टॉल लगाते थे। काम अच्छा चलने लगा 600 कभी 4000 कभी 5000 तक सेल होने लगे और उन्होंने अपनी जॉब छोड़ दी और अपना पूरा फोकस अपने चाय पर किया।

MBA चाय वाला’ के करोड़पति बनने का सफर

चाय का काम अच्छा चलने लगा नेटवर्क अच्छे बन गए तो प्रफुल्ल ने सोचा क्यों ना अब दुकान का कोई एक अच्छा सा नाम रख लें, जिससे और अच्छी मार्केटिंग हो। लगभग 400 नाम सेलेक्ट करने के बाद एक नाम फाइनल किया, जो था ‘मिस्टर बिल्लोरे अहमदाबाद’ जिसका शॉर्ट नाम ‘MBA चाय वाला’ पड़ा। शुरुआत में लोग उन पर खूब हंसते, मजाक बनाते लेकिन धीरे-धीरे लोगों को प्रफुल्ल का आइडिया पसंद आने लगा।

‘MBA चाय वाला’ धीरे-धीरे फेमस हो गया। अब लोकल इवेंट, म्यूजिकल नाइट, बुक एक्सचेंज प्रोग्राम, वुमन एम्पावरमेंट, सोशल कॉज, ब्लड डोनेशन जैसी हर जगह ‘MBA चाय वाला’ दिखाई देता। प्रफुल्ल ने वेलेंटाइन के दिन ‘सिंगल के लिए मुफ्त चाय’ दी, जो वायरल हो गई और वहां से उनको और भी ज्यादा पॉपुलेरिटी मिली। अब उन्हें और भी बड़े ऑर्डर मिलने लगे।

आज ‘MBA चाय वाला’ नेशनल और इंटरनेशनल इवेंट करते हैं। प्रफुल्ल ने 300 स्क्वायर फीट में अपना कैफे खोला और पूरे भारत में फ्रेंचाइजी दी। एक वक्त जिन MBA संस्थानों में जाकर पढ़ाई करना प्रफुल्ल बिल्लोरे का सपना था। आज वही संस्थान प्रफुल्ल को अपने यहां बतौर मैनेजमेंट गुरू लेक्चर देने के लिए बुलाते हैं। महज 25 साल की उम्र में उनका नेटवर्थ सालाना 3 से 4 करोड़ का है। आज देश के 22 शहरों में और लंदन में भी ‘MBA चायवाला’ के नाम से उसके आउटलेट हैं। बाकी के देशों में भी फ्रेंचाइजी पर बात चल रही है।

Read More :

MBA चाय वाला’ पर आधारित सकारात्मक विचार | मोटिवेशनल कोट्स | फोटो | स्टेटस

सफलता तुम्हारा परिचय दुनियां से करवाती है

और असफलता तुम्हें दुनियां का परिचय करवाती है।

जब भी ज़िंदगी आपको पटक दे या पीछे ढकेल दे,

तो समझ जाना एक बड़ी छलांग लगाने का वक़्त आ गया है !

छोटा हो या बड़ा, जो भी काम करना चाहें, उसे अपनी पूरी शक्ति लगाकर करें, यह गुण हमें शेर से सीखना चाहिए !

निष्कर्ष

दोस्तों इस पोस्ट में आपको MBA चाय वाला प्रफुल्ल बिल्लोरे की सफलता की कहानी आपके साथ शेयर किया। ऐसे लोग समाज के लिए एक प्रेरणा हैं, जो छोटे से परिवार से निकल कर बिना किसी साधन के कुछ इतना बड़ा कर देते हैं, कि दुनिया देखती रह जाती है। प्रफुल्ल बिल्लोरे सोशल मीडिया पर बहुत ही ज्यादा एक्टिव रहते हैं। युवाओं को अपने वीडियो के माध्यम से मोटीवेट करते रहते हैं। आपको उनकी एक एक बातें असर करेगी, जोभी अब तक के अपना अनुभव शेयर करते हैं। आप उनसे इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर अवश्य फॉलो करें। और हाँ जीवन में हम सभी को यह बात रखनी चाहिए कि कोई काम छोटा नहीं होता, सोच बड़ी होनी चाहिए।

पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे जरूर सोशल मीडिया पर शेयर करें और कमेंट बॉक्स में अपना प्यार दें। धन्यवाद

Leave a Comment